Home | About me | Site Map
होम     |     इतिहास     |     परिचय     |     जानकारी     |     व्यक्तित्व     |     डाउनलोड्स     |     आप के विचार     |     हमारे बारे में     |     हमारी सेवाएं
Google Add Google Add
line bg
लाडनूं समाचार
line bg
लाडनूं समाचार , January 21 2013
Ladnun Fort
सऊदी अरब के एजेंट कर रहे हैं देश को तोडऩे की साजिश : सूफी समप्रदाय का जागरूकता अभियान
ऑल इंडिया उलेमा एंड मशीहख बोर्ड के राष्ट्रीय सचिव सैयद बाबर अशरफ ने कहा है कि इस मुल्क में इस्लाम का गलत प्रचार प्रसार किया जा रहा है, जिससे आपस की मुहब्बतें कम हो रही है। सऊदी अरब के एजेंट इस मुल्क को खराब करते हैं और तोडऩे की गतिविधियों में शरीक रहते हैं, जबकि शेष 80 से 90 प्रतिशत मुसलमान देश में अमन व चैन को पसंद करते हैं फिर भी यह दाग सभी मुसलमानों पर लग रहा है। आज हकूमत सिर्फ शक्ति की की जुबान को समझती है, इसलिये आजादी के बाद पहली बार बीकानेर में 10 फरवरी को मुस्लिम महापंचायत के नाम से विशाल रैली का आयोजन किया जा रहा है। अपने घर की हिफाजत और दर की हिफाजत के लिये हमारी कोशिश है। हम अपना अधिकार लेकर रहेंगे। हम नबी के दिवाने हैं, अमन का परचम लेकर निकले हैं। यह बहुत बड़ा मूवमेंट है, हमें इतिहास रचना है। वे यहां गली नं. 9 में सुन्नी सूफी मुसलमानों की सबसे बड़ी संस्था आल इंडिया उलमा व मशाहख बोर्ड की ओर से जागरूकता अभियान के तहत एक सभा का आयोजन करके आम मुसलमानों को बीकानेकर पहुंचने की दावत दे रहे थे। सैयद मो. मेहंदी मियां चिश्ती की अध्यक्षता में आयोजित इस सभा में बताया गया कि भारतीय मुसलमानों की समस्याओं विशेष रूप से मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्रों में गुणवता के स्कूल, वक्फ बोर्ड, रोजगार, सूफी सर्किट आदि के लिये एकजुट होकर लाखों की संख्या में पहुंचने का आह्वान किया गया, ताकि लोकतांत्रिक ढंग से अपने संवैधानिक अधिकारों की प्राप्ति के लिये आवाज उठा सकें। सैयद चिश्ती ने बताया कि आजादी के बाद जिन लोगों ने मुस्लिम राजनैतिक व सामाजिक संस्थाओं पर कब्जा किया, वे भारतीय मुसलमानों का प्रतिनिधित्व नहीं करते, बल्कि सऊदी अरब की वहाबी कट्टरवादी विचारधारा को बढाने में लगे रहे। भारतीय मुसलमान जो दरगाह में आस्था रखते हैं, उनके अधिकारों का इन्होंने हनन किया है। यह बोर्ड मुसलमानों की जायज हकूक की प्राप्ति के लिये संवैधानिक रूप से हर स्तर पर संघर्ष करेगा तथा देश में शांति की स्थापना के लिये दृढ संकल्पबद्ध है। सभा में सैयद शाहिद मोईनी, मौलाना जान मोहम्मद, मौलाना प्यार मोहम्मद, सैयद मो. अयूब अशरफी, मौलाना जाकिर अशरफ, अब्दुल वाहिद, लियाकत अली, शकूर, अब्दुल रहमान, हाफिज इकबाल, सेयद अब्दुल खालिक तनवीर, सैयद अब्दुल अजीज, मौलाना साबिर हुसैन रिजवी, मौलाना अब्दुर्रहमान आदि उपस्थित थे। जागरूकता अभियान के तहत यह दल बासनी, नागौर, सुजानगढ व लाडनूं का दौरा कर चुका तथा आगे उनका सम्पर्क जारी है।
       
line bg
        Previous News         Next News