Home | About me | Site Map
होम     |     इतिहास     |     परिचय     |     जानकारी     |     व्यक्तित्व     |     डाउनलोड्स     |     आप के विचार     |     हमारे बारे में     |     हमारी सेवाएं
Google Add Google Add
line bg
लाडनूं समाचार
line bg
लाडनूं समाचार , January 22 2013
Ladnun Fort
संघ के खिलाफ भडक़ाऊ बयानों की निन्दा : उपखंड कार्यालय पर प्रदर्शन व ज्ञापन
केन्द्रीय गृहमंत्री सुशील कुमार शिन्दे व कांग्रेस पार्टी द्वारा किये जा रहे अनर्गल प्रलाप किये जाकर भारतीय जनता पार्टी एवं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रशिक्षण शिविरों में आतंकवादी तैयार करने सम्बंधी विवादास्पद बयानों के विरोध में यहां लोगों में काफी रोष व्याप्त है। स्थानीय माधव कालेज छात्र परिषद की ओर से इस सम्बंध में उपखंड कार्यालय में प्रदर्शन किया गया तथा राष्ट्रपति के नाम का ज्ञापन सौंपकर शिंदे को बर्खास्त करने की मांग की है। छात्र परिषद अध्यक्ष अशोक सिंह राठौड़, सचिव दिलीप इंदौरिया, लोकेश रांकावत, प्रभुराम कालेरा, विक्रम सिंह, संजय पटेल, हरिराम घोटिया, मुकेश तूनवाल, शिवकरण रैगर, सुनिल कुमार नाई, प्रभु ओझा, विशाल सोलंकी सहित करीब तीन दर्जन कार्यकर्ताओं ने ज्ञापन में शिंदे के बाद दिग्विजय सिंह, मणिशंकर अरूयर, लालू प्रसाद यादव आदि के बयान को सोची समझी रणनीति बताई तथा इसे अल्पसंख्यक वोट बैंक के लिये राजनीति करने का कड़ा विरोध करते हुए शिंदे को बर्खास्त करने की मांग की गई। छात्रसंघ के अध्यक्ष अशोक सिंह राठौड़ ने बताया कि जो कांग्रेस नेता आतंकवादियों के लिये श्रीमान, जी और साहब जैसे सम्मानजनक शब्दों का सम्बोधन करते हैं, उनकी भावनाओं को समझा जा सकता है। अगर ऐसे लोग शहीद भगतसिंह को भी आतंकवादी कह दे तो अतिशयोक्ति नहीं होगी। राष्ट्रभक्त स्वयंसेवी संगठन के लिये उनके द्वारा आतंकवाद से सम्बद्ध बताया जाना देश के लिये शुभ संकेत नहीं है। उनके अलावा भी काफी लोगों ने अपनी तीखी प्रतिक्रिया इस बयान को लेकर व्यक्त की है। भाजपा की जिला मंत्री श्रीमती सुमित्रा आर्य ने कहा कि सर्वधर्म समभाव वाले देश में जो नेतागण केवल बहुसंख्यकों के देशभक्त संगठनों की आलोचना करके अपनी राजनीति की दुकानें चलाते हैं, उनसे अब जनता को निपटना चाहिये तथा उन्हें बता देना चाहिये कि अपराधी को अपराधी और आतंकवादी को आतंकवादी कहने में उन्हें संकोच होता है और लोगों को भडक़ाने के लिये वे उलजुलूल बयानबाजी करके भावनाओं को आहत कर रहे हैं, उन्हें अब सहन नहीं किया जायेगा। माधव कालेज के निदेशक गजेन्द्र सिंह ओड़ींट ने भी कांग्रेस नेताओं के बयानों की निन्दा करते हुए ऐसे लोगों को मंत्रिमंडल से हटाने की आवश्यकता बताई। भाजपा ग्रामीण मंडल के वरिष्ठ उपाध्यक्ष ओमप्रकाश बागड़ा ने ऐसे सिरफिरे लोगों को सबक सिखाया जाना चाहिये। गलत व बेतुकी बयानबाजी करके ये लोगे अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकना चाहते हैं। भाजपा किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष देवाराम पटेल ने कांग्रेस की तुष्टीकरण की नीति का विरोध किया तथा कहा कि राष्ट्रभक्त संगठनों पर अंगुलि उठाना कांग्रेस के लिये भारी पड़ेगा। कांग्रेस को अविलम्ब शिंदे के बयानों और अपनी गलत नीति के लिये माफी मांगनी चाहिये अन्यथा 24 जनवरी से जनान्छोलन की शुरूआत कर दी जायेगी।
       
line bg
        Previous News         Next News